34 Replies to “Karnataka political crisis deepens as 11 Congress-JDS MLAs resign

  1. Actually all real peoples of various parties are thinking now that peoples of india has become educated and they demands the good services from them and it is possible when, when they are with good parties. this type of conditions are same in bangal.

  2. एक समय था, एक पार्टी हुआ करती थी, जिसका आज कोई अस्तित्व नहिं है
    इसका पूरा श्रेय पापुआ खान को जाता है. सब पार्टियां मिलकर, काँग्रेस ko बिदाई party deni चाहिए

  3. ye congres kya bak-rahe ? janta ne sakt nakarneki bat v miljulke bramalut machana, bhrastachar/ghotala ka record todna, adkane/bhatkane/ladkane, jaha v dekho astabyasta prasashan, lut-aniyamikta ….. jitna jyada utnahi uttam loktantra ! Ye hai rajnitiko uttam pesa manne congresiyau ne aaj-tak samaste aa-rahe loktantra ki paribhasa . 30 sitte CM banke satta chalane aur janta ki man-pasand ka 105 sitte pratipakshi ! satta/kursi/swarthme lipta congressi ka uttam loktantra !!

  4. गूगल को 'गोगल' कहने वाले राशिद अल्वी जैसे कोंग्रेस के चापलूस से कुछ नहीं होगा, कुमार स्वामी कर्नाटक में अपने अस्तित्व को बचाने भाजपा की शरण में जाएगा. कोंग्रेस के पापो का घड़ा भर चुका है.

  5. अरे काँग्रेसी कुत्ता, . जरा कर्नाटक मुख्यमंत्री से तो पूछ लेते कि.वह रो.क्यों रहा था।. अरे, अब तुम से लोग जानना चाहते हैं कि तुमने मुख्यमंत्री को रुलाया क्यों था। तुमने.कोर्ट को गुमराह क्यों किया था।

  6. परिवारवाद और जातिवाद करके बड़ी-बड़ी तिजोरी भरने वालों की राजनीति खत्म
    यह जनता भी जान गई है और जनता के नुमाइंदे भी। तभी इस्तीफा दे दिया।

  7. DO CHIRE LOOTERE KA JAGHADA BAUAR AAYA
    SATTAKI MALAI
    MALKE BANTWAREME
    KARNATAKA JANTANE VIDHANSABHAKA CHUNA KHAS KARKE HINDUONR JAGROOT HOKE VOTE KIYA HOTA TO ITNE DINBHI CONG JDS SATTAME NA AATI NA RAHETI
    ?????

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *